Shubh Prabhat Lord Shiva Somwar Blessings Text Quotes Images

Spread the love

There are Trillions of devotees of Lord Shiva not only in India but all over the world, who have unwavering feelings and faith towards Lord Shiva. Lord Shiva drank poison to protect the universe and Lord Shiva fulfills all the wishes of his devotees.

Good Morning Shubh Somwar Image Famous Best

Good Morning Shubh Somwar Image Famous Best

Lord Shiva is also called the God of Gods and is considered the God of welfare. Mahadev is known for compassion and mercy. There is such a religious belief that Mahadev fulfills the wishes of his devotees just by offering belpatra and water and becomes happy. If you want to please Lord Shiva immensely, then you should chant mantras of Lord Shiva.

Good Morning Shubh Somwar Image Pictures Send

Good Morning Shubh Somwar Image Pictures Send

By chanting Shiva Mantra, Lord Shiva becomes happy and fulfills all the wishes of his devotees. Here we are sharing lord shiva shloka with meaning (shiv ji sanskrit shlok), shiv mantra list, shiv gayatri mantra meaning, shiva aavahan mantra with meaning, shiv stuti with hindi meaning, shiv mantras according to 12 zodiac signs, etc. By chanting you can please Shiva.

Good Morning Shubh Somwar Image Share It Interesting

Good Morning Shubh Somwar Image Share It Interesting

Lord Shiva Mantra: भारत में भगवान शिव को पूजने वाले भक्तों की संख्या सैंकड़ों में है। कहा जाता है कि सृष्टि की रक्षा के लिए विष पान करने वाले भोलेनाथ अपने भक्तों की हर मनोकामना बहुत जल्द पूरी करते हैं। भगवान भोलेनाथ के व्यक्तित्व के कई रंग हैं, इसलिए उन्हें ‘देवों के देव महादेव’ भी कहा जाता है। हिंदू धर्म में महादेव को कल्याण का देवता माना गया है। शिव जी को उनकी दया और करुणा के लिए भी जाना जाता है।

Good Morning Shubh Somwar Image Share It Sharechat

Good Morning Shubh Somwar Image Share It Sharechat

धार्मिक मान्यता है कि शिव जी मात्र बेलपत्र और जल चढ़ाने से ही अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाते हैं। इसके अलावा अगर आप शिव जी की अधिक कृपा पाने चाहते हैं, तो आपको कुछ विशेष मंत्रों का जाप करना चाहिए। इन मंत्रों का जाप करने से शिव जी न सिर्फ खुश होते हैं, बल्कि अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं भी पूरी करते हैं। आइए जानते हैं उन मंत्रों के बारे में…

Good Morning Shubh Somwar Image Shiva Pictures

Good Morning Shubh Somwar Image Shiva Pictures

शिव श्लोक अर्थ सहित | शिव मंत्र अर्थ सहित | Shiv Mantra in Sanskrit with Hindi Meaning

Good Morning Shubh Somwar Image Status Famous

Good Morning Shubh Somwar Image Status Famous

ॐकारं बिंदुसंयुक्तं नित्यं ध्यायंति योगिनः।
कामदं मोक्षदं चैव ॐकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: वह अपने भक्तों की सभी इच्छाओं को पूरा करते हैं और ऐसे शिव को मोक्ष, नमस्कार करते हैं, जिन्हें ‘ओम’ शब्द से वर्णित किया गया है।

नमंति ऋषयो देवा नमन्त्यप्सरसां गणाः।
नरा नमंति देवेशं नकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: जिसे सभी मुनि सम्मान और श्रद्धा से प्रणाम करते हैं।
जिसे सभी देवता आदर और श्रद्धा से प्रणाम करते हैं।
जिसे सभी अप्सराएं सम्मान और श्रद्धा से नमन करती हैं।
जिसे मनुष्य भी सम्मान और श्रद्धा से नमन करते हैं,
मैं ऐसे शिव को नमन करता हूं, जो देवताओं के देवता हैं।
वे शब्दांश “नहीं” द्वारा वर्णित हैं।

Good Morning Shubh Somwar Image Shiva Stamp

Good Morning Shubh Somwar Image Shiva Stamp

महादेवं महात्मानं महाध्यानं परायणम्।
महापापहरं देवं मकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: कौन हैं महादेव, कौन हैं महात्मा, कौन हैं ध्यान का परम लक्ष्य।
वह जो अपने भक्तों के सभी पापों (पाप कर्मों) का नाश करने वाला है। वह जो महान पापों का नाश करता है।
ऐसे शिव को नमन
वे शब्दांश “म:” द्वारा वर्णित हैं।”

Good Morning Shubh Somwar Image Famous Wisdom

Good Morning Shubh Somwar Image Famous Wisdom

शिवं शांतं जगन्नाथं लोकानुग्रहकारकम्।
शिवमेकपदं नित्यं शिकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: जो परम शुभ है, जो शान्ति का धाम है, जो जगत् का स्वामी है,
विश्व के कल्याण के लिए कार्य करता है।
जो एक शाश्वत (अमर) शब्द है जिसे शिव के नाम से जाना जाता है
ऐसे शिव को नमन जिनका वर्णन “शि” अक्षर से किया गया है।

Good Morning Shubh Somwar Image Foto Thoughts

Good Morning Shubh Somwar Image Foto Thoughts

वाहनं वृषभो यस्य वासुकिः कंठभूषणम्।
वामे शक्तिधरं देवं वकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: वायु वाहन नंदी, वासुकी नाग (वासुकी नागराजमन हे ज़ेंग (सुन) ओ) के आसन (हार) के रूप में, अपनी बाईं घड़ी से देवी शक्ति।
ऐसे शिव को नमन
जो “वा” शब्द का वर्णन है।

यत्र यत्र स्थितो देवः सर्वव्यापी महेश्वरः।
यो गुरुः सर्वदेवानां यकाराय नमो नमः।।

भावार्थ: वह जो सर्वव्यापी है, अर्थात् हर जगह मौजूद है, जहां भगवान स्थित हैं।
सभी देवताओं का गुरु कौन है,
ऐसे शिव को नमन
जिनका वर्णन “य” अक्षर द्वारा किया गया है।

Good Morning Shubh Somwar Image Happy No Logo

Good Morning Shubh Somwar Image Happy No Logo

षडक्षरमिदं स्तोत्रं यः पठेच्छिवसंनिधौ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते।।

भावार्थ:
जो कोई भी शिव (शिवलिंग) के सामने इस शादक्षर स्तोत्र का पाठ करता है, वह शिवलोक को प्राप्त करता है और सर्वोच्च सुख और परम आनंद को प्राप्त करता है।

संपूर्ण महामृत्युंजय मंत्र हिंदी अर्थ सहित जानने के लिए यहां क्लिक करें।

शिव श्लोक अर्थ सहित (shiv ji shlok)

ॐ नमः शिवाय।।
नमः शिवाय,ॐ नमः शिवाय।।

भावार्थ: ॐ नमः शिवाय मंत्र का अर्थ है ‘मैं भगवान शिव को नमन करता हूं। यह शिव मंत्रों में सबसे प्रसिद्ध मंत्र है। मान्यता के अनुसार प्रतिदिन सावन में इसका जप करने से भगवान शिव तुरंत प्रसन्न होते हैं, वहीं शिवरात्रि के दिन इसका 108 बार जाप करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है। इस मंत्र के सही उच्चारण से मन शांत होता है, आध्यात्म का आह्वान करने से आत्मा शुद्ध होती है।

Good Morning Shubh Somwar Image Hindi Big

Good Morning Shubh Somwar Image Hindi Big

ॐ नमो भगवते रुद्राय।।

भावार्थ: इस मंत्र का अर्थ है कि ‘मैं पवित्र रुद्र को नमन करता हूं। ऐसा माना जाता है कि इस मंत्र का जाप करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। भगवान शिव की अपार कृपा आप पर बनी रहे। इस मंत्र को रुद्र मंत्र के जाप से भी जाना जाता है।

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात।।

भावार्थ: मुझे अपना सारा ध्यान सर्वव्यापी भगवान शिव पर केंद्रित करने दें। मुझे ज्ञान का भण्डार दो और मेरे हृदय को रुद्र के प्रकाश से भर दो। गायत्री मंत्र हिंदू मंत्रों में सबसे शक्तिशाली मंत्रों में से एक है। इसी तरह यह रुद्र गायत्री मंत्र भी बहुत शक्तिशाली है। ऐसा माना जाता है कि इस मंत्र का जाप करने से आपको एक स्थिर मानसिकता देने के लिए मन की शांति और ज्ञान का अपार प्रकाश मिलता है।

वशिष्ठेन कृतं स्तोत्रम सर्वरोग निवारणं, सर्वसंपर्काराम शीघ्रम पुत्रपौत्रादिवर्धनम।।

भावार्थ: हमारे सभी रोगों से मुक्ति दिलाएं। साथ ही याददाश्त भी जा सकती है और स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया जा सकता है। मान्यता के अनुसार इस मंत्र का जाप करने से धन की प्राप्ति होती है और अच्छे भविष्य की प्राप्ति होती है। यह बुराई, दरिद्रता और रोगों को दूर करने का मंत्र है। कहा जाता है कि इस मंत्र के जाप से आप और आपकी संतान रोग मुक्त होंगे और घर में शांति बनी रहेगी।

Good Morning Shubh Somwar Image Inspirational Whatsapp

Good Morning Shubh Somwar Image Inspirational Whatsapp

shiv ji shlok in sanskrit

ॐ त्रयम्बकं यजामहे सुगंधिम् पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बंधनन्मृत्योम्रुक्षीय मामृतात्।

भावार्थ:
हे ईश्वर, जिसके तीन नेत्र हैं, वह प्रेम, आदर और श्रद्धा से पूजे जाते हैं, जिसके पास संसार की सारी सुगंध है, जिसका स्वभाव मधुर है, जो पूर्ण है, जिसके कारण स्वस्थ जीवन है, जो विनाश करता है रोग, लालसा और बुराई, जिससे जीवन समृद्ध होता है। हो जाता। उस अमर से प्रार्थना है कि वह हमारी सारी बेड़ियों को काटकर हमें मोक्ष का मार्ग दिखा सके।

कर्पूरगौरं करुणावतारं संसार सारं भुजगेन्द्रहारम
सदा वसन्तं हृदयारविन्दे भवन भवानीसहितं नमामि।

भावार्थ:
जो कर्पूर के समान पवित्र और श्वेत है और करुणा और दया का स्वरूप है, उसमें सारा संसार समाया हुआ है, जिसने सर्प को हार के समान धारण किया है, जो संसार के कोने-कोने में विराजमान है, जिसके हृदय में वास है। माँ भवानी की, ऐसे भगवान शिव और माँ पार्वती को मेरा प्रणाम।

Good Morning Shubh Somwar Image Images Original

Good Morning Shubh Somwar Image Images Original

वन्दे देवम उमापतिमं सुरगुरुं वन्दे जगात्कारानाम,
वन्दे पन्नगभूषणं मृग्धरमं वन्दे पशुनां पतिम् .
वन्दे सूर्या शशांक वह्रींनयन वन्दे मुकुन्द प्रियम
वन्दे भक्तजनाच्क्ष्यम च वरदम् वन्दे शिवम् शंकरम्।

भावार्थ:हे आराध्य देव, उमा (माँ भगवती के पति), पूरे विश्व के स्वामी, जो संसार के कारण हैं, जिनके एक हाथ में हिरण है, जो जानवरों का स्वामी भी है, जिनकी आँखों में सूर्य, चंद्रमा है अग्नि और तारे निवास करते हैं। शिव शंकर को मेरा नमस्कार, जो मुकुंद के प्रिय हैं, जो भक्तों के जीवन के दाता हैं, जिन्होंने पूरे ब्रह्मांड का निर्माण किया।

श्री गुरुभ्यो नम:, हरि:ॐ, शम्भवे नम:
ॐनमोभगवते वासुदेवाय, नमस्ते अस्तु भगवान विश्वेश्वराय
महादेवाय त्र्यम्बकाय त्रिपुरान्ताकाय त्रिकालाग्निकालाय
कलाग्निरुद्राया नील्कंठाया मृत्युन्जायाया सर्वेश्वराय सदाशिवाय श्रीमन्महादेवाया नम:।

भावार्थ:
हे गुरुदेव, हे हरिहर भोले, शिव शंभू नमोनमन, श्री वासुदेव भगवान शिव तीनों रूपों के रूप में, जिनके तीन नेत्र तीनों लोकों का निवास हैं, जिनमें जल, अग्नि, वायु शामिल हैं, जिन्होंने अपने में विष धारण किया है। गले में मिला नीलकंठेश्वर का नाम, ऐसे महादेव को नमस्कार, जो मृत्यु पर विजय प्राप्त करते हैं, जो पूरे विश्व का कर्ता है।

shiv mantra in sanskrit with hindi meaning

Good Morning Shubh Somwar Image Natural Special

Good Morning Shubh Somwar Image Natural Special

नमामीशमीशान निर्वाणरूपं। विभुं व्यापकं ब्रह्मवेदस्वरूपं।
निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं। चिदाकाशमाकाशवासं भजेऽहं।

भावार्थ: हे मोक्षरूप मोक्ष, विभु, व्यापक ब्राह्मण, वेदों की दिशा के देवता और हम सभी के भगवान शिव, मैं आपको नमस्कार करता हूं। अपने ही रूप में स्थित, चेतन, इच्छा रहित, भेद रहित, आकाश रूप में, मैं हमेशा आपकी पूजा करता हूं।

महाद्रिपार्श्वे च तटे रमन्तं सम्पूज्यमानं सततं मुनीन्द्रैः।
सुरासुरैर्यक्षमहोरगाद्यै: केदारमीशं शिवमेकमीडे।।

भावार्थ: भगवान शिव शंकर जो हिमालय पर्वत श्रृंखला के पास पवित्र मंदाकिनी के तट पर स्थित केदारखंड नामक एक सींग में निवास करते हैं और हमेशा ऋषियों द्वारा पूजे जाते हैं। मैं शिव शंकर की प्रशंसा करता हूं, जिनकी पूजा हमेशा यक्ष-किन्नर, नागा और देवता-असुर आदि करते हैं, जो केदारनाथ नामक अद्वितीय कल्याणकारी हैं।

Good Morning Shubh Somwar Image No Logo Feeling

Good Morning Shubh Somwar Image No Logo Feeling

यं डाकिनीशाकिनिकासमाजे निषेव्यमाणं पिशिताशनैश्च।
सदैव भीमादिपदप्रसिद्धं तं शंकरं भक्तहितं नमामि।।

भावार्थ: भीमाशंकर नाम से विख्यात भगवान शंकर को मेरा नमस्कार है, जो शाकिनी और डाकिनी समुदाय में हमेशा राक्षसों द्वारा सेवा करते हैं और एक भक्त हैं।

shiv mantra with meaning

नमस्ते भगवान रुद्र भास्करामित तेजसे।
नमो भवाय देवाय रसायाम्बुमयात्मने।।

भावार्थ: हे मेरे रुद्र, तुम्हारा तेज अनंत सूर्यों से भी तेज है। जल की कृपा, जल की कृपा तुम ही हो! हे प्रभु, मैं आपको प्रणाम करता हूँ।

Good Morning Shubh Somwar Image Nice Stunning

Good Morning Shubh Somwar Image Nice Stunning

निराकारमोंकारमूलं तुरीयं। गिराज्ञानगोतीतमीशं गिरीशं।
करालं महाकालकालं कृपालं। गुणागारसंसारपारं नतोऽहं।।

भावार्थ: ओंकार के स्रोत, ज्ञान, निराकार और इंद्रियों से परे महाकाल, गुणों के निवास, कैलाशपति, दयालु, दुर्जेय दुनिया से परे, सर्वोच्च भगवान को मेरा नमस्कार।

दृशं विदधमि क करोम्यनुतिशमि कथं भयाकुल:।
नु तिश्सि रक्ष रक्ष मामयि शम्भो शरणागतोस्मि ते।।

भावार्थ: हे शंभो, अब मैं देखूं, कृध्रा देखूं, मैं यहां भय में कैसे रह सकता हूं? तुम कहाँ हो मेरे स्वामी? तुम मेरी रक्षा करो, मैं तुम्हारी शरण में आया हूँ।

अवन्तिकायां विहितावतारं मुक्तिप्रदानाय च सज्जनानाम्।
अकालमृत्यो: परिरक्षणार्थं वन्दे महाकालमहासुरेशम्।।

भावार्थ: देव महाकाल के नाम से विख्यात महादेव जी को मैं नमन करता हूँ उन देवताओं के जिन्होंने संतों को मोक्ष प्रदान करने के लिए अवंतिकापुरी उज्जैन में अवतार लिया है।

Good Morning Shubh Somwar Image PhotoOfTheDay Sharechat

Good Morning Shubh Somwar Image PhotoOfTheDay Sharechat

देवमुनिप्रवरार्चितलिंगम् कामदहं करुणाकरलिंगम्।
रावणदर्पविनाशनलिंगम् तत्प्रणमामि सदाशिवलिंगम्।।

भावार्थ: मैं भगवान सदाशिव के लिंग को नमन करता हूं, जिसकी पूजा लिंग देवताओं और ऋषियों द्वारा की जाती है। जिसने कामदेव को क्रोध से भस्म कर दिया, जो दया का सागर है और जिसने लंकापति रावण के भय को भी नष्ट कर दिया है।

गायत्री मंत्र का अर्थ, महत्व और जाप का सटीक तरीका आदि के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें।

shiv mantra meaning in hindi

सविषैरिव भोगपगैखवषयैरेभिरलं परिक्षतम्।
अमृतैरिव संभ्रमेण मामभिषिाशु दयावलोकनै:।।

भावार्थ: भारी विषैले सांपों की तरह, इन सांसारिक विषयों ने मुझे भयभीत कर दिया है। इसलिए मुझे उनकी चिंता है। कृपया मुझे अपने अनुग्रह-सदृश अमृत-सदृश, जीवनदायिनी या ध्यान के अवलोकन से बचाएं।

Good Morning Shubh Somwar Image Original Pik

Good Morning Shubh Somwar Image Original Pik

तस्मै नम: परमकारणकारणाय दिप्तोज्ज्वलज्ज्वलित पिङ्गललोचनाय।
नागेन्द्रहारकृतकुण्डलभूषणाय ब्रह्मेन्द्रविष्णुवरदाय नम: शिवाय।।

भावार्थ: जो शिव कारणों का परम कारण भी है। वे बहुत उज्ज्वल, उज्ज्वल हैं और उनकी आंखें पीली हैं। मैं शिव को नमन करता हूं, जो नागों की माला से सुशोभित हैं, और जो ब्रह्मा, विष्णु और इंद्र को भी वरदान देते हैं।

सुताम्रपर्णीजलराशियोगे निबध्य सेतुं विशिखैरसंख्यै:।
श्रीरामचन्द्रेण समर्पितं तं रामेश्वराख्यं नियतं नमामि।।

भावार्थ:
जिसे श्री रामचंद्र जी ने सुंदर ताम्रपर्णी और समुद्र नामक नदी के संगम पर अनेक बाणों या वानरों द्वारा एक पुल बांधकर भगवान शंकर की स्थापना की है। श्री रामेश्वर नाम के उसी शिव को मैं प्रणाम करता हूँ।

Good Morning Shubh Somwar Image Positive Happy

Good Morning Shubh Somwar Image Positive Happy

नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांगरागाय महेश्वराय।
नित्याय शुद्धाय दिगम्बराय तस्मै “न” काराय नमः शिवाय।।

भावार्थ: महादेव! आप नागराज को हार के रूप में धारण करने वाले हैं। हे (तीन-आंखों) त्रिलोचन, आप राख, शाश्वत (शाश्वत और अनंत) और शुद्ध से सुशोभित हैं। अम्बर को लबादे की तरह धारण करने वाले दिगंबर शिव को नमस्कार, जो रूप आपके अक्षर ‘एन’ से जाना जाता है।

shiva mantra with meaning

मंदाकिनी सलिल चंदन चर्चिताय नंदीश्वर प्रमथनाथ महेश्वराय।
मंदारपुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय तस्मै “म” काराय नमः शिवाय।।

भावार्थ: चंदन से सुशोभित, और गंगा की धारा, नंदीश्वर और प्रमथनाथ के भगवान महेश्वर, आप हमेशा के लिए हैं

शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय।
श्री नीलकण्ठाय वृषध्वजाय तस्मै “शि” काराय नमः शिवाय।।

भावार्थ: हे धर्म के स्वामी, नीलकंठ, महाप्रभु, जिन्हें शि अक्षर से जाना जाता है, आपने दक्ष के अभिमानी यज्ञ को नष्ट कर दिया है। शिव को नमस्कार, जो आपके अक्षर ‘शि’ से ज्ञात रूप माँ गौरी के कमल चेहरे पर सूर्य की तरह तेज करते हैं।

Good Morning Shubh Somwar Image Quotes Slogan

Good Morning Shubh Somwar Image Quotes Slogan

वसिष्ठ कुम्भोद्भव गौतमार्य मुनींद्र देवार्चित शेखराय।
चंद्रार्क वैश्वानर लोचनाय तस्मै “व” काराय नमः शिवाय।।

भावार्थ: देवगण और वशिष्ठ, अगस्त्य, गौतम आदि ऋषियों ने देवधिदेव की पूजा की। आपकी तीन आंखें सूर्य, चंद्रमा और अग्नि हैं। हे शिव !! आपके ‘वी’ अक्षर से ज्ञात रूप को नमस्कार।

mahadev mantra with meaning

यक्षस्वरूपाय जटाधराय पिनाकहस्ताय सनातनाय।
दिव्याय देवाय दिगम्बराय तस्मै “य” काराय नमः शिवाय।।

भावार्थ: हे यक्ष रूप, जटधारी शिव, आप शाश्वत हैं, मध्य और अंत के बिना। हे दिव्य चिदकाश, अम्बर धारण करने वाले शिव !! आपके अक्षर ‘य’ से ज्ञात रूप को नमस्कार।

Good Morning Shubh Somwar Image Sign Download

Good Morning Shubh Somwar Image Sign Download

पंचाक्षरमिदं पुण्यं यः पठेत् शिव सन्निधौ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते।।

भावार्थ: जो कोई भी भगवान शिव के इस पंचाक्षर मंत्र का नियमित रूप से उनके सामने पाठ करता है, वह शिव के पुण्य लोक को प्राप्त करता है और शिव के साथ सुखपूर्वक निवास करता है।

।।इति श्रीमच्छंकराचार्यविरचितं श्रीशिवपंचाक्षरस्तोत्रं सम्पूर्णम्।।

सूर्य मंत्र हिंदी अर्थ सहित जानने के लिए यहां क्लिक करें।

Good Morning Shubh Somwar Image Facebook Status

Good Morning Shubh Somwar Image Facebook Status

शिव मंत्र लिस्ट
ॐ शिवाय नम:
ॐ सर्वात्मने नम:
ॐ त्रिनेत्राय नम:

ॐ हराय नम:
ॐ इन्द्रमुखाय नम:
ॐ श्रीकंठाय नम:

Good Morning Shubh Somwar Image Social Media Quotes

Good Morning Shubh Somwar Image Social Media Quotes

ॐ वामदेवाय नम:
ॐ तत्पुरुषाय नम:
ॐ ईशानाय नम:

ॐ अनंतधर्माय नम:
ॐ ज्ञानभूताय नम:
ॐ अनंतवैराग्यसिंघाय नम:

Good Morning Shubh Somwar Image Special Cheerful

Good Morning Shubh Somwar Image Special Cheerful

ॐ प्रधानाय नम:
ॐ व्योमात्मने नम:
ॐ युक्तकेशात्मरूपाय नम:

शिव गायत्री मंत्र
ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।

शिव गायत्री मंत्र का अर्थ
हे सर्वव्यापी त्रिकाल ज्ञाता महापुरुष देवों के देव महादेव मुझे अपना पूरा ध्यान आपकी आस्था पर केंद्रित करने दें। मुझे आप ज्ञान दे, मेरे हृदय को रुद्र के प्रकाश से भर दे। मैं आपके अस्तित्व और आस्था में विलीन होना चाहता हूं।

Good Morning Shubh Somwar Image Social Media Sentence

Good Morning Shubh Somwar Image Social Media Sentence

शिव आवाहन मंत्र
ॐ मृत्युंजय परेशान जगदाभयनाशन।
तव ध्यानेन देवेश मृत्युप्राप्नोति जीवती।।

वन्दे ईशान देवाय नमस्तस्मै पिनाकिने।

नमस्तस्मै भगवते कैलासाचल वासिने।
आदिमध्यांत रूपाय मृत्युनाशं करोतु मे।।

त्र्यंबकाय नमस्तुभ्यं पंचस्याय नमोनमः।
नमोब्रह्मेन्द्र रूपाय मृत्युनाशं करोतु मे।।
नमो दोर्दण्डचापाय मम मृत्युम् विनाशय।।

Good Morning Shubh Somwar Image Status Sentence

Good Morning Shubh Somwar Image Status Sentence

देवं मृत्युविनाशनं भयहरं साम्राज्य मुक्ति प्रदम्।
नमोर्धेन्दु स्वरूपाय नमो दिग्वसनाय च।
नमो भक्तार्ति हन्त्रे च मम मृत्युं विनाशय।।

अज्ञानान्धकनाशनं शुभकरं विध्यासु सौख्य प्रदम्।
नाना भूतगणान्वितं दिवि पदैः देवैः सदा सेवितम्।।
सर्व सर्वपति महेश्वर हरं मृत्युंजय भावये।।

शिव आवाहन मंत्र अर्थ सहित
इस मंत्र में देवों के देव महादेव को त्रयंबकम, मृत्युंजय, महेश्वर, ईशान और पिनानी जैसे नामों से पुकारा गया है।

Good Morning Shubh Somwar Image Spiritual Motivational

Good Morning Shubh Somwar Image Spiritual Motivational

उपरोक्त मंत्र में पहले श्लोक का अर्थ है कि है देवेश अर्थात शिव मृत्यु को जीतने वाले हैं। आप सभी जीवो के कष्टों से दूर करते हैं, आप संसार को भय नष्ट करने वाले हैं। सभी जीवों के दुखहर्ता महादेव का जो ध्यान लगाता है, वह मृत्यु प्राप्त करने वाला जीवित रहता है।

दूसरे श्लोक का अर्थ है कि भगवान शिव जिन्हें ईशान देवाय और पिनानिक भी कहा जाता है। ऐसे सर्व ज्ञाता प्रभु को मैं नमन करता हूं। मैं कैलाश पर्वत पर वास भगवान शिव को नमन करता हूं कि हे प्रभु मेरे आदि, मध्य और अंत मृत्यु को नष्ट करें नाश करें।

तीन आंखों वाले त्रियंबकाय और पंचायतन को मेरा नमस्कार है, धनुषधारी दोर्दण्ड को मेरा नमस्कार है। हे देव मेरे मृत्यु को नष्ट करें।

Good Morning Shubh Somwar Image Status Without Logo

Good Morning Shubh Somwar Image Status Without Logo

चौथे श्लोक का अर्थ है चंद्रमा रूपी भगवान, विस्तारकारी आकाश के स्वामी भगवान शिव जो भक्तों के मृत्यु के भय को नष्ट करते हैं। सभी के भय को हरने वाले, साम्राज्य की मुक्ति प्रदान करने वाले भगवान शिव अपने भक्तों को अमृत व जीवन की प्राप्ति का आशीर्वाद दें।

पांचवें श्लोक का अर्थ है अज्ञानान्धकनाशनं अर्थात अज्ञान के अंधकार को नष्ट करने वाले, भगवान शिव हर विद्या में सुख प्रदान करने वाले, शुभ कार्य को प्राप्त करने वाले सबके पति सर्वपति, महेश्वर, कष्टों के हरता, मृत्युंजय रूप में उनका भाव करता हूं।

शिव स्तुति मंत्र
कर्पुरगौरं करुणावतारं, संसारसारं भुजगेन्द्रहारं।
सदा वसन्तं हृदयारविन्दे, भवं भवानीसहितं नमामि।।

शिव स्तुति मंत्र श्लोक अर्थ सहित
उपरोक्त श्लोक में भगवान शिव को कर्पूरगौरं कहकर उन्हें कपूर के समान शुद्ध बताया गया है। उनका व्यक्तित्व करुणा का अवतार है, जो करुणा के साक्षात अवतार हैं।

Good Morning Shubh Somwar Image Stunning PicOfTheDay

Good Morning Shubh Somwar Image Stunning PicOfTheDay

संपूर्ण सृष्टि के सांपों के राजा को अपने गले में हार के रूप में धारण किए हुए भगवान शिव जिनका दिल कमल रूपी शुद्ध है, जो कमल गंदे पानी में उगता है, चारों तरफ कीचड़ से घिरा होने के बावजूद उस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, ठीक उसी प्रकार भगवान शिव सदा उन मनुष्य के हृदय में वास करते हैं, जिन पर सांसारिक जीवन का प्रभाव नहीं पड़ता है। ऐसे भगवान शिव और भवानी रूपी मां पार्वती के चरणों में मैं शत-शत नमन करता हूं।

शिव स्तुति श्लोक
पशूनां पतिं पापनाशं परेशं गजेन्द्रस्य कृत्तिं वसानं वरेण्यम।
जटाजूटमध्ये स्फुरद्गाङ्गवारिं महादेवमेकं स्मरामि स्मरारिम।।

महेशं सुरेशं सुरारातिनाशं विभुं विश्वनाथं विभूत्यङ्गभूषम्।
विरूपाक्षमिन्द्वर्कवह्नित्रिनेत्रं सदानन्दमीडे प्रभुं पञ्चवक्त्रम्।।

गिरीशं गणेशं गले नीलवर्णं गवेन्द्राधिरूढं गुणातीतरूपम्।
भवं भास्वरं भस्मना भूषिताङ्गं भवानीकलत्रं भजे पञ्चवक्त्रम्।।

Good Morning Shubh Somwar Image Symbol Happy

Good Morning Shubh Somwar Image Symbol Happy

शिवाकान्त शंभो शशाङ्कार्धमौले महेशान शूलिञ्जटाजूटधारिन्।
त्वमेको जगद्व्यापको विश्वरूप: प्रसीद प्रसीद प्रभो पूर्णरूप।।

परात्मानमेकं जगद्बीजमाद्यं निरीहं निराकारमोंकारवेद्यम्।
यतो जायते पाल्यते येन विश्वं तमीशं भजे लीयते यत्र विश्वम्।।

न भूमिर्नं चापो न वह्निर्न वायुर्न चाकाशमास्ते न तन्द्रा न निद्रा।
न गृष्मो न शीतं न देशो न वेषो न यस्यास्ति मूर्तिस्त्रिमूर्तिं तमीड।।

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Special

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Special

अजं शाश्वतं कारणं कारणानां शिवं केवलं भासकं भासकानाम्।
तुरीयं तम:पारमाद्यन्तहीनं प्रपद्ये परं पावनं द्वैतहीनम।।

नमस्ते नमस्ते विभो विश्वमूर्ते नमस्ते नमस्ते चिदानन्दमूर्ते।
नमस्ते नमस्ते तपोयोगगम्य नमस्ते नमस्ते श्रुतिज्ञानगम्।।

प्रभो शूलपाणे विभो विश्वनाथ महादेव शंभो महेश त्रिनेत्।
शिवाकान्त शान्त स्मरारे पुरारे त्वदन्यो वरेण्यो न मान्यो न गण्य:।।

Good Morning Shubh Somwar Image Whatsapp Watermark Free

Good Morning Shubh Somwar Image Whatsapp Watermark Free

शंभो महेश करुणामय शूलपाणे गौरीपते पशुपते पशुपाशनाशिन्।
काशीपते करुणया जगदेतदेक-स्त्वंहंसि पासि विदधासि महेश्वरोऽसि।।

त्वत्तो जगद्भवति देव भव स्मरारे त्वय्येव तिष्ठति जगन्मृड विश्वनाथ।
त्वय्येव गच्छति लयं जगदेतदीश लिङ्गात्मके हर चराचरविश्वरूपिन।।

शिव स्तुति अर्थ सहित
पशूनां पतिं पापनाशं परेशं गजेन्द्रस्य कृत्तिं वसानं वरेण्यम।
जटाजूटमध्ये स्फुरद्गाङ्गवारिं महादेवमेकं स्मरामि स्मरारिम।।

भावार्थ:

उपरोक्त श्लोक में भगवान शिव जी को सभी पशुओं का देवता बताया गया है और उन्हें पशुपति कहकर संबोधित किया गया है।

जो अस्त्र के स्वामी है, पापों के नाशक हैं, जिन्होंने गजराज के चरण के वस्त्र पहने हुए हैं, जिनकी जटाओं के बीच मां गंगा की धारा बहती है। ऐसे एकमात्र मेरे सर्व ज्ञाता सर्वव्यापी प्रभु भगवान शिव का मैं स्मरण करता हूं।

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes 4K

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes 4K

महेशं सुरेशं सुरारातिनाशं विभुं विश्वनाथं विभूत्यङ्गभूषम्।
विरूपाक्षमिन्द्वर्कवह्नित्रिनेत्रं सदानन्दमीडे प्रभुं पञ्चवक्त्रम्।।

भावार्थ:

महेश , सुरेश और अन्य देवताओं के अहंकार का नाश करने वाले प्रभु विश्वनाथ, विभूति से अपने अंगों को सुशोभित करने वाले सर्व विद्यमान रूप वाले, चंद्र, सूर्य और अग्नि जिनके तीन नेत्र हैं। ऐसे देवेश्वर, विभूतिभूषण, नित्यानंद स्वरूप पंचमुख भगवान शिव जी का मैं शत-शत नमन करता हूं।

गिरीशं गणेशं गले नीलवर्णं गवेन्द्राधिरूढं गुणातीतरूपम्।
भवं भास्वरं भस्मना भूषिताङ्गं भवानीकलत्रं भजे पञ्चवक्त्रम्।।

भावार्थ:

उपरोक्त श्लोक में भगवान शिव जी को कैलाश नाथ बताया गया है, जो कैलाश पर विराजमान रहते हैं। वे गणन्नाथ है, जिनका गला नीला है ऐसे नीलकंठ, बेल पर चढ़े हुए भगवान शिव जिनके अनगिनत रूप है, जो संसार के आदि कारण हैं, जिन्होंने अपने संपूर्ण अंगों को भस्म से सुशोभित किया हुआ है, जो विश्व के लिए सूर्य के समान है, जो सब गुणों से भरपूर है, जो माता पार्वती के स्वामी है, ऐसे देवों के देव महादेव भगवान शिव जी का मैं भजन करता हूं।

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes Images

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes Images

शिवाकान्त शंभो शशाङ्कार्धमौले महेशान शूलिञ्जटाजूटधारिन्।
त्वमेको जगद्व्यापको विश्वरूप: प्रसीद प्रसीद प्रभो पूर्णरूप।।

भावार्थ:

सभी के स्वामी भगवान शिव जी जो एकांत में रहते हैं, जो शंभु है, शशांक है, मां पार्वती के स्वामी हैं, जिन्होंने अपने जटाओं को धारण किया हुआ है, हाथों में त्रिशूल लिए हुए खड़े हैं। हे संपूर्ण जगत के स्वामी यह संपूर्ण विश्व आपका ही रूप है, आप हमेशा प्रसन्न रहें।

परात्मानमेकं जगद्बीजमाद्यं निरीहं निराकारमोंकारवेद्यम्।
यतो जायते पाल्यते येन विश्वं तमीशं भजे लीयते यत्र विश्वम्।।

भावार्थ:

उपरोक्त श्लोक में भगवान शिव जी को संपूर्ण जगत का पालनहार बताया गया है, जो परमात्मा है और परमात्मा का एक ही रूप होता है, जिन्हें कोई मोह नहीं होता, जो सर्व विद्यमान है, जहां हम जाएंगे जहां विचरण करेंगे, भगवान शिव हर जगह हमारे पास है। हम विश्व में हर जगह उन्हीं को पाएंगे। प्रभु कण-कण में विद्यमान है, सृष्टि के सर्जन करता और पालनहार प्रभु शिव को मैं भजता हूं।

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes Pictures

Good Morning Shubh Somwar Image Wishes Pictures

न भूमिर्नं चापो न वह्निर्न वायुर्न चाकाशमास्ते न तन्द्रा न निद्रा।
न गृष्मो न शीतं न देशो न वेषो न यस्यास्ति मूर्तिस्त्रिमूर्तिं तमीड।।

भावार्थ:

भगवान शिवजी जो सर्वशक्तिमान है, जिनका ना पृथ्वी, ना जल, ना अग्नि, ना आकाश, ना अग्नि, ना इंद्रियां, ना तंद्रा ना निंद्रा, ना देश है ना वेष है ऐसी मूर्तिहिन त्रिमूर्ति की मैं स्तुति करता हूं।

अजं शाश्वतं कारणं कारणानां शिवं केवलं भासकं भासकानाम्।
तुरीयं तम:पारमाद्यन्तहीनं प्रपद्ये परं पावनं द्वैतहीनम।।

भावार्थ:

उपरोक्त श्लोक के जरिए भगवान शिव जी को सास्वत बताया गया है, वे जन्म मृत्यु से परे हैं, वे सभी कारणों के कारण है, प्रकाश के भी प्रकाश है, सभी प्रकार की अवस्थाओं से परिपूर्ण है, वे संपूर्ण सृष्टि के कल्याण करने वाले हैं, सर्वत्र विद्यमान हैं, वे अंतहीन है वे ही शुभ आरंभ है। ऐसे अविभाजित और कण कण में विराजमान भगवान शिव की मैं स्तुति करता हूं।

Good Morning Shubh Somwar Image Without Logo Colorful

Good Morning Shubh Somwar Image Without Logo Colorful

नमस्ते नमस्ते विभो विश्वमूर्ते नमस्ते नमस्ते चिदानन्दमूर्ते।
नमस्ते नमस्ते तपोयोगगम्य नमस्ते नमस्ते श्रुतिज्ञानगम्।।

भावार्थ:

भगवान शिव जी विश्व का कल्याण करने वाले हैं। ऐसे कल्याणकारी देवों के देव भगवान शिव प्रभु का मैं नमस्कार करता हूं। हे परम आनंद, हे महान तपस्वी, परम ज्ञान के स्वामी, योग के स्वामी में आपका शत-शत नमन करता है।

प्रभो शूलपाणे विभो विश्वनाथ महादेव शंभो महेश त्रिनेत्।
शिवाकान्त शान्त स्मरारे पुरारे त्वदन्यो वरेण्यो न मान्यो न गण्य:।।

भावार्थ:

हे प्रभो! हे त्रिशूलपाणे! हे विभो! हे विश्वनाथ! हे महादेव! हे शम्भो! हे महेश्वर! हे त्रिनेत्र! हे पार्वतीप्राणवल्लभ! हे शान्त! हे कामारे! हे त्रिपुरारे! तुम्हारे अतिरिक्त न कोई श्रेष्ठ है, न माननीय है और न गणनीय है।

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Colorful

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Colorful

हे त्रिशूल धारण किए हुए सर्व पति, महादेव, आप विश्व के स्वामी हैं, हे शंभू, हे महेश, तीन आंखों वाले त्रिनेत्र, भगवान शिव जी आप शांत और एकांत में निवास करने वाले हैं। आप इस विश्व और सृष्टि में सबसे श्रेष्ठ और उच्च हैं। आपके अतिरिक्त इस सृष्टि में कोई भी माननीय और गणनीय नहीं है।

शंभो महेश करुणामय शूलपाणे गौरीपते पशुपते पशुपाशनाशिन्।
काशीपते करुणया जगदेतदेक-स्त्वंहंसि पासि विदधासि महेश्वरोऽसि।।

भावार्थ:

हे शंभू आप महेश हैं, आप ही तो दया के सागर हैं, त्रिशूल धारण किए हुए मां गौरी के पति, अस्त्र के स्वामी पशुपति, आप सभी बंधनों से मुक्त कराने वाले हैं। आप ही करूणावश हैं, इस जगत के सर्जन करता है, आप काशी नगरी के स्वामी हैं, आप इस जगत के ईश्वर हैं, आप सभी का उद्धार करते हैं। आप ही सृष्टि के एकमात्र स्वामी हैं।

त्वत्तो जगद्भवति देव भव स्मरारे त्वय्येव तिष्ठति जगन्मृड विश्वनाथ।
त्वय्येव गच्छति लयं जगदेतदीश लिङ्गात्मके हर चराचरविश्वरूपिन।।

Good Morning Shubh Somwar Image Elegant Without Logo

Good Morning Shubh Somwar Image Elegant Without Logo

भावार्थ:

उपर्युक्त श्लोक में भगवान शिव जी को संपूर्ण जगत बताया गया है। वही सृष्टि के सृजन करता है, उन्ही से सब कुछ विद्यमान है। यह संपूर्ण जगत भगवान शिव से ही उत्पन्न हुआ है और वही जगत को संभालते हैं। अंत में संपूर्ण सृष्टि उन्हीं में विलीन हो जाएगी।

12 राशियों के अनुसार शिव मंत्र

Good Morning Shubh Somwar Image Huge Motivational

Good Morning Shubh Somwar Image Huge Motivational

निष्कर्ष
यहां पर भगवान शिव श्लोक अर्थ सहित (shiv ji sanskrit shlok), शिव मंत्र लिस्ट, शिव गायत्री मंत्र का अर्थ, शिव आवाहन मंत्र अर्थ सहित, शिव स्तुति हिंदी अर्थ सहित, 12 राशियों के अनुसार शिव मंत्र आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, इसे आगे शेयर जरुर करें। यदि इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Joyful

Good Morning Shubh Somwar Image Eye-Catching Joyful


Spread the love

Related Posts

New Style Good Morning High Quality Happy New Week Monday Shubh Somwar Quotes 2024 Images Whatsapp Wishes Sentence Common

Happy New Week Good Morning Monday Somwar Wishes English Greetings Blessings Quotes Images Hindi

Unique Good Morning Nature 2023 Images Whatsapp Free Photography

Beautiful Good Morning Nature Quotes Images HD New Style Download

Good Morning Happy Onam Wishes Whatsapp Collection Image

Happy Onam Festival 2023 Good Morning Wishes Whatsapp Hindi SMS

Good Morning Happy N Funny Saturday Wishes Nice Huge

Happy n Funny Saturday Good Morning Quotes Wishes Images Whatsapp

Good Morning Ganesha Without Logo JPG

Good Morning Ganesh Ji Pictures Mantras vs Shaloks